पगली का आखिरी प्रेम-पत्र Apr01

पगली का आखिरी प्रेम-...

जो कभी तन्हाई में दिल उदास हो, बेचैन हो, जो कभी भीड़ में मंजिल की डगर मुश्किल लगे, तुम्हेँ मेरी जरुरत होगी | पर घबराना मत, तेरे बक्से में छुपाकर रखा था खुद को, जब मेरी जुल्फों में उलझा था तू, जज्बातों की कोई पुरानी पोटली खोलना, उन खतों का हर अल्फाज़ तेरा गीत गुनगुनाएगा, तू जरुर मुस्कुराएगा,...

Home Page